Ram-Mandir

राम मन में हैं मेरे

राम मन में हैं मेरे राम जीवन हैं मेरे राम की महिमा निराली राम नस नस में बसे आज मेरे राम की जन्मभूमि सज गई कितने वर्षों सूनी थी...
कंकालों की झील

कंकालों की झील -चमोली, उत्तराखंड

रूपकुंड त्रिशूल शिखर 7120 किमी की ऊंचाई पर स्थित एक झील है जो उत्तराखंड में है। यह झील एक रहस्य्मयी झील है जो कंकाल...
शशिकरण

शशिकिरण आई आकाश में

भोर ढल गयी, आई संध्या धीर-धीरे घनी हुई है रतिया चमके अम्बर में अगणित तारे सौम्य, चंचल और हैं उजियारे बिजली दमके उत्तम प्रकाश में शशिकिरण आई आकाश...
crowded city life

जिंदगी पेचीदा है, शहर बज़्म से सजा है

जिंदगी पेचीदा है, शहर बज़्म से सजा है मेरे रुआब में कोई गर्द सा सटा है गैर जरूरी शिकवे यहां पुरजोर हैं और तल्खियों का अलग मसला...
Happy man

दिलों में इरादों की मशाल लेकर चलता हूं

कभी अपनी धुन में कभी बेपरवाह रहता हूं मैं परिंदों सा उड़ने का हौसला रखता हूं मुझे यकीन है कि कई लोग बड़े परेशान हैं मैं बस...
Man standing with open arms

दिलासा क्या दूँ दिल को

दिलासा क्या दूँ दिल को, ये भटक रहा है किसी और की सरपरस्ती में उछल रहा है जानता हूँ मैं ये कि गलत राह पर हूँ फिर...
गमछा चैलेंज प्रतियोगिता

जाने गमछा चैलेंज प्रतियोगिता के प्रतिभागी और विजेता के बारे में

Lockdown में सभी व्यक्तियों को घर मे रहना है और कोरोना महामारी को भारत से भगाना है। भारत के सभी नागरिक समय व्यतीत करने...
Hair Loss

बालों को झड़ने से कैसे रोकें

क्या आप अपने कमज़ोर होते हुए बालों, दोमुंहे बाल और हेयर डैमेज से  परेशान है? समय आ गया है आप इस समस्या...
The Kashmir Files

खुल रहे है दस्तावेज तो चिढ रहे हो

सांप से ही दोस्ती पाली थी हमने चांवल की बोरी में धंसकर मरोगे जिरह क्या करना जब सुनवाई नहीं है बेकार में क्यों किसकी दलीले सुनोगे वक़्त होते...
[td_block_social_counter custom_title=”STAY CONNECTED” facebook=”tagdiv” twitter=”tagdivofficial” youtube=”tagdiv” open_in_new_window=”y” border_top=”no_border_top”]

FEATURED

MOST POPULAR

मेघालय का मावल्यान्नॉंग गाँव- एशिया का सबसे स्वच्छ गाँव

मेघालय का मावल्यान्नॉंग गाँव, एशिया का सबसे स्वच्छ गाँव माना जाता है। सबसे स्वच्छ गाँव होने के कारण यह पर्यटकों के लिए सबसे प्रमुख...

LATEST REVIEWS

साँझ का एक टुकड़ा

टूटी हुई शाखें दरख़्त के मायने तलाशती हैं बिखरी हुई पत्तियां मिटटी के घरोंदे सजाती है कभी जो अनजाने में तुमसे गलती हो गई पल भर मे...

राम मन में हैं मेरे

राम मन में हैं मेरे राम जीवन हैं मेरे राम की महिमा निराली राम नस नस में बसे आज मेरे राम की जन्मभूमि सज गई कितने वर्षों सूनी थी...

LATEST ARTICLES

error: Content is protected !!