अगर प्यार हो जाये

Keshav Rawat

चेहरे का तेरे दीदार हो जाये
क्या किया जाये अगर प्यार हो जाये

कुछ बोलने से पहले मौन सा हो जाए
रातों को जागे और दिन में सो जाये
भूख प्यास भी बेकार सी हो जाए
क्या किया जाये अगर प्यार हो जाये

भूखा रहूँ और पेट भर जाए
थकते-थकते हर काम कर जाए
रह के सबके साथ अकेला सा पड़ जाए
क्या किया जाये अगर प्यार हो जाये

कहां चले कहां रुक जाए
हर कोई रास्ता गलत बताए
अपने ही घर में दिल खो जाए
क्या किया जाये अगर प्यार हो जाए

चेहरे में सबके तू ही नज़र आये
तेरा ही बनके रहना ये चाहे
मिलने को तुझसे ये दिल तरस जाए
क्या किया जाये अगर प्यार हो जाए

नींद न आए चैन न आए
हर पल तेरी याद सताए
मेरी सुने ना अपनी सुनाए
क्या किया जाये अगर प्यार हो जाए

लिखता रहे और लिखता ही जाए
प्यार के गीत तुझपे बनाए
तेरी कविता तुझे सुनाए
क्या किया जाये अगर प्यार हो जाए

~ Keshav Rawat

About the Author

admin

सांझी बात एक विमर्श बूटी है जीवन के विभिन्न आयामों और परिस्थितियों की। अवलोकन कीजिए, मंथन कीजिए और रस लीजिए वृहत्तर अनुभवों का अपने आस पास।

You may also like these