Home ग्रामीण जीवन जाने गमछा चैलेंज प्रतियोगिता के प्रतिभागी और विजेता के बारे में

जाने गमछा चैलेंज प्रतियोगिता के प्रतिभागी और विजेता के बारे में

4102
4
गमछा चैलेंज प्रतियोगिता

Lockdown में सभी व्यक्तियों को घर मे रहना है और कोरोना महामारी को भारत से भगाना है। भारत के सभी नागरिक समय व्यतीत करने के लिए तरह तरह एक्टिविटी कर रहे.. कोई घर बैठे नये नये पकवान बना रहा है, कोई फ़ैमिली के साथ अच्छा समय बिता रहा है। सरकार भी लोगों के मनोरंजन के लिए 90 दशक के मशहूर कई शो जैसे रामायण, महाभारत, ब्योमकेश बक्शी, बुनियाद, चाणक्य, शक्तिमान, द जंगल बुक और अलिफ लैला शुरु किये हैं।

इसी को ध्यान में रखते हुए सिरौना गांव के कुछ लड़को ने आपस मे मिलकर गमछा चेलेंज प्रतियोगिता का आयोजन किया। इस आयोजन में हरेक व्यक्ति को अपनी सेल्फ़ी गमछा के साथ खींच के एक व्हाट्सप्प ग्रुप में शेयर करना था। इस प्रतियोगिता में कुल 11 लोग भाग लिए। आइये इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागी के बारे में जानते है।

1. कुन्दन: पेशे से Web Analyst जमीन से जुड़ा एक संवेदनशील इंसान जो खुशियों को बाटनें की प्रबल उत्कण्ठा में सदैव तत्पर है। कुन्दन वर्तमान में दिल्ली महानगर में रहते है। प्रोफेशनल दुनिया मे लोग इन्हें जय के नाम से जानते है। गाँव के प्रति स्नेह, सामाजिक कार्यो के प्रति इनका लगाव हमेशा रहता है। इस प्रतियोगिता के विजेता कुन्दन का स्थान 1 रहा।

2. राजन: किस्मत के धनी, पढ़ाई में हमेशा अव्वल रहने वाले, सीधे- सरल व्यक्तित्व के मालिक राजन का सर्टिफिकेट नेम अभिषेक कुमार है। वर्तमान में ये मोतिहारी स्थित अपने आवास में रहते है। गांव के प्रति इनका प्रेम और लगाव हमेशा सबको गौरान्वित करता है। इस प्रतियोगिता में इनका स्थान 2 रहा।

3. मुकुल: बहुत ही मेहनती, जीवन में सभी तरह के चुनौतियों का सामना करने वाले और अपने काम के प्रति ईमानदार मुकुल कुमार का सर्टिफिकेट नेम राकेश कुमार है। वर्तमान में ये कुशखेड़ा, राजस्थान में एक प्रतिष्टित कंपनी में कार्य कर रहे है। इस प्रतियोगिता में इनका स्थान 3 रहा।

4. श्री राम: देश की सेवा की भावना लिए सशस्त्र सीमा बल में शामिल श्री राम को लोग रौशन के नाम से भी जानते है। दुश्मन के खिलाफ अदम्य साहस एवं पराक्रम रखने वाले श्री राम वर्तमान में बिहार के गया जिला में पोस्टेड है। गांव के लोगो को आर्थिक और शारीरक दोनों तरफ से मदद करने को हमेशा तत्पर रहने वाले श्री राम इस प्रतियोगिता में 4 स्थान पे रहें।

5. आकाश: बहुत ही सरल स्वभाव एवं मिलनसार व्यक्तित्व के धनी आकाश क्रिकेट प्रेमी है। सबका सम्मान करने वाले, सामाजिक कार्यक्रम हो चाहे किसी की मदद करना ये हमेशा आगे वाली कतार में खड़े रहते है। वर्तमान में गांव में रहके ही पढ़ाई कर रहे आकाश का गमछा चैलेंज प्रतियोगिता में स्थान 5 रहा।

6. ऋषि: दयालु प्रवृति एवं देश की सेवा भावना लिए भारतीय सेना में शामिल ऋषि को लोग उज्जवल के नाम से भी जानते है। कड़ी मेहनत के बदौलत भारतीय सेना में शामिल होकर एक मिसाल भी पेश की है वर्तमान में मेरठ में पोस्टेड है। गरीब लोगो की निःस्वार्थ भाव से सेवा करने में हमेशा आगे रहने वाले ऋषि इस प्रतियोगिता में 6 स्थान पे रहें।

7. रंजन: मृदुभाषी, सरल स्वभाव, मिलनसार एवं सबके सुख दुख के साथी रंजन, वर्त्तमान में नोएडा में रहते है। जिन्दगी के उतार-चढाव को बहुत ख़ुशी एवं हिम्मत के साथ जीवन पथ पर अग्रसर रंजन दिल्ली के एक बहुप्रतिष्ठित क्लिनिक में कार्यरत है। गमछा चैलेंज प्रतियोगिता में इनका स्थान 7 रहा।

8. राहुल: सर पे भगवा गमछा बांधे, हमेशा हिंदुत्व का झंडा बुलंद करने वाले राहुल शर्मा वर्तमान में मोतिहारी रहके पढ़ाई करते है। इनकी विचारधारा गरीब, एवं संसाधन विहिन लोगों को आत्मबल देने का काम करती है। गमछा चैलेंज प्रतियोगिता में इनका स्थान 8 रहा।

9. प्रकाश: लम्बे चौड़े क़द काठी के धनी, निडर, मस्तमौला और आगे भारतीय सेना में अपनी योगदान देकर देश सेवा करने वाले प्रकाश अभी गांव में रहते है।
गमछा चैलेंज प्रतियोगिता में प्रकाश का स्थान 9 रहा।

10. अभिनन्दन: परिस्थिति एक ऐसी चीज है जो इंसान को सबकुछ सीखा देती है… बचपन मे ही बड़ा बना देती है। इस कहावत को चरितार्थ करते हुए अभिनदंन पढाई के साथ साथ लुधियाना के एक कंपनी कार्यरत है। यंग, मेहनती और मल्टी टैलेंटेड अभिनन्दन इस प्रतियोगिता में 10 स्थान पे रहे।

11.आयुष: इस प्रतियोगिता में सबसे कम उम्र का प्रतिभागी जिसके हौसले न जाने कितने बड़े बड़ो पर भारी हैं। दिलो में भारतीय सेना के तौर पे देश की सेवा का भावना लिए आयुष अभी ढाका से पढ़ाई कर रहे है। गमछा चैलेंज प्रतियोगिता में आयुष का स्थान 11 रहा।

विजेता का चुनाव का आधार निम्नलिखित बिंदुओं पर हुआ:

1. चेहरे की भाव भंगिमाएं
2. चेहरे की मुस्कान
3. प्रतिभागी की सुंदरता
4. गमछा रखने की शैली
5. चेहरे का तेज

इस प्रतियोगिता के जज के रूप में गांव के वरिष्ठ शिक्षक टिंकू रंजन जी थे, जो वर्तमान में वार्ड सदस्य भी है उनका बहुत बहुत आभार एवं प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों का बहुत बहुत धन्यवाद। गमछा पहने- यह हमारी पहचान है, शान है.. हम ग्रामवासियों का स्वाभिमान है।

Facebook Notice for EU! You need to login to view and post FB Comments!

Comments are closed.